मानव शरीर मे रक्त की प्रतिपुर्ति रक्त कोई अन्य तरल पदार्थ नही कर सकता है। रक्त मे पोषक तत्व होते है तथा शरीर मे आॅक्सीजन ले जाने के लिये उपयुक्त तत्व होते है। शरीर के ताममान को संतुलित रखने मे रक्तप्रवाह मदद करता है। विष्व स्तर पर रक्ताधान द्वारा संक्रमण मे आई कमी की सरहाना की गई है। ट्रांसंफ्यूजन ट्रांामिटेड इंफेक्शन (टी.टी.आई) मे एच. आई. व्ही., हेपेटाइटिस बी/सी, सिफलिस और मलेरिया शामिल है। इन सभी संक्रमणो को सुरक्षित रक्त के उपयोग से रोका जा सकता है।
रक्ताधान से पहले संक्रमण के लिए रक्त की जांच सुनिष्चित करने और स्वैच्छिक रक्तदान को बढावा देने से(टी.टी.आई) संक्रमण को प्रभावी तरीके से रोका जा सकता है। इसलिए स्वैच्छिक रक्तदान अभियान नियमित रूप से आयोजित किया जाता है।

 
रक्तसुरक्षा के लिए रणनीतिक योजना

NACO के द्वारा रक्ताधान सेवाओं को मजबुत करने के कार्यक्रम के तहत सरकारी ब्लड बैंको/केन्द्र शासीत ब्लड बैंको/इंडीयन रेडक्रास द्वारा संचालित नाको सपोर्टेड ब्लड बैंको को ब्ल्ड बंैक स्टाॅफ के वेतन और परीक्षण किटों , ब्लड बैगों के लिये बजट प्रदाय किया जाता है।

वित्तिय वर्ष 2019-2020 मे मध्य प्रदेश के नाको सपोर्टेड ब्लड बैंको मे लगभग 3,70,115 यूनिट रक्त एकत्र किया गया था। जिसमे से 1,14,983 यूनिट स्वैच्छिक रक्तदान षिविरों के माध्यम से एकत्र किया गया है।

ब्लड कम्पोनेंट सेपरेशन की सुविधाएं मेडीकल कालेज ब्लड बैंको में, जिला अस्पताल सतना, सागर, छिंदवाडा, शहडोल, उज्जैन, सिविल अस्पताल जबलपुर, इंदिरा गांधी गैस राहत अस्पताल भोपाल, इंडियन रेडक्रास सोसायटी भोपाल, एम्स भोेपाल, बी.एम.एच.आर.सी भोपाल मे उपलब्ध है।

नियमित निगरानी के माध्यम से रक्त और रक्त उत्पादों की गुणवत्ता नियंणत्र को बेहतर किया जा रहा है। ब्लड बैंक EQAS (External Quality Assessment Scheme) कार्यक्रम के तहत भाग लेे रहें है।

 
मध्य प्रदेश मे रक्ताधान संबंधी नीति

» रक्तााधान सेवाएं स्वास्थ्य सेवा प्रणाली का अभिन्न अंग हैं।

» केवल लाइसेंस प्राप्त रक्त बैंकों को ही संचालित करने की अनुमति है।

» स्वैच्छिक रक्तदान को प्रोत्साहित किया जा रहा है।

 
स्वैच्छिक रक्तदान अभियान

नियमित स्वैच्छिक रक्तदाता द्वारा दान किया गया रक्त सबसे सुरक्षित प्रकार का रक्त माना जाता है। इसलिए रक्त की मांग को पूरा करने के लिए स्वैच्छिक रक्तदान को प्रोत्साहित करना आवश्यक है। राज्य में नियमित स्वैच्छिक रक्तदान अभियान चलाया जा रहा है। हमारा प्रयास है कि इसे एक जन आंदोलन में परिवर्तित किया जाए ताकि सुरक्षित रक्त की आपूर्ति सुनिश्चित हो सके।

निम्नलिखित कार्य योजना को लागू किया जा रहा है :-

» मेडिकल कॉलेज और जिला स्तर के ब्लड बैंकों में नियमित रक्तदान शिविर।

» रक्तदान शिविरों के लिए वार्षिक कैलेंडर।

» लायंस क्लब, रोटरी क्लब, नेहरू युवा केंद्र संगठन, आदि जैसे स्वैच्छिक संगठनों का नियमित रूप से समावेश।

» एन.एस.एस., रेड रिबन क्लब और एन.सी.सी के छात्र नियमित रूप से रक्तदान करके स्वैच्छिक रक्तदान कार्यक्रम में भाग ले रहे हैं।

» कोई भी स्वस्थ व्यक्ति तीन महीने के अंतराल में रक्तदान कर सकता है।

» यह वांछनीय है कि प्रत्येक युवा को वर्ष में कम से कम एक बार रक्तदान करना चाहिए।

» स्वैच्छिक रक्तदान से कोई भी व्यक्ति जरूरतमंद मरीजों की जान बचा सकता है।

 

स्वैच्छिक रक्तदान शिविर नियमित रूप से आयोजित किए जाते हैं। स्वैच्छिक रक्तदान दिवस 1 अक्टूबर को मनाया जाता है और हर साल 14 जून को विष्व रक्तदाता दिवस मनाया जाता है। दोनों अवसरों पर रक्तदान माह का आयोजन किया जाता है। डोनर मोटिवेशन पर एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला सभी मेडिकल कॉलेजों और मेजर ब्लड बैंकों में आयोजित की जाती है।

रक्तदान - महत्वपूर्ण तथ्य

रेड ब्लड सेल्स (RBC) रक्त का सबसे महत्वपूर्ण घटक है। आर.बी.सी का जीवनकाल 90 से 120 दिनों का होता है। इसलिए हर व्यक्ति के शरीर में नियमित रूप से पुराने आर.बी.सी की नए आर.बी.सी द्वारा प्रतिस्थापित किया जाता है। दूसरे शब्दों में कुल (RBC) का 1/120 वाँ भाग नष्ट हो जाता है और क्रमिक रूप से (RBC) की समान संख्या प्रतिदिन बनती है। इसलिए दान किए गए रक्त को बहुत जल्द ही फिर से भर दिया जाता है। रक्तदान करने से किसी प्रकार की कमजोरी नहीं आती है।

» जंतुरहीत प्रक्रिया अपनाने पर कोई भी रक्तदाता बीमारी के संपर्क मे नही आ सकता ।

» 18 से 65 वर्ष की आयु के बीच का प्रत्येक स्वस्थ व्यक्ति सुरक्षित रूप से हर तीन महीने के अंतराल पर रक्तदान कर सकता है।

» रक्त दान लगभग एक दर्द रहित प्रक्रिया है और इसमे केवल 3 से 5 मिनट लगते हैं।

» रक्तदान से पहले और बाद में किसी भी खाद्य प्रतिबंध की आवश्यकता नहीं है।

एक रक्तदाता मे वांछनीय :-

1. अच्छा स्वास्थ्य।,

2. कम से कम 45 किलोग्राम वजन ।

3. हीमोग्लोबिन 12.5 ग्राम प्रतिषत।

4. आयु 18 से 65 वर्ष के बीच।

 
रक्त का रेषनल उपयोग

यह प्रयास होना चाहिए की केवल सिंगल यूनिट ब्लड ट्रांसफ्यूजन न दिया जाये। रक्त (Whloe Blood ) के बजाय रक्त घटकों (Blood Component ) का उपयोग कर रक्त के भंडारण की समस्या को काफी हद तक हल किया जा सकता है। जहां भी Whloe Blood की आवश्यकता नहीं है, वहां आवश्यक रक्त घटको (Blood Component ) का उपयोग किया जाना चाहिए।

1. रक्त घटको (Blood Component ) का पृथक्करण रक्त घटको यूनिट (Blood Component Separation Units ) में होता है।

2. मरीजों को उनकी आवश्यकता के अनुसार अलग-अलग रक्त घटक जैसे पैक्ड सेल, प्लाज्मा, प्लेटलेट्स आदि दिए जाने चाहिए।

3. मध्य प्रदेष मे रक्त घटक पृथक्करण इकाइयाँ क्रियाशील हैं।

3. सभी मेडिकल कॉलेजों और प्रमुख ब्लड बैंक में रक्त के तर्कसंगत उपयोग पर एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित की जाती है।

 
Blood Component Separation Units
Blood Bank

Mahatma Gandhi Memorial Medical College, Indore.

Incharge: Dr Ashok Yadav

Ph.: 0731-527301 Ext.: 29

  Blood Bank

Gandhi Medical College, Bhopal.

Incharge: Dr U M Sharma

Ph.: 0755-4050148

Blood Bank

Gajra Raje Medical College, Gwalior.

Incharge: Dr Arun Jain

Ph.: 0751-323950

  Blood Bank

Netaji Subhash Chandra Bose Medical College, Jabalpur

Incharge Dr. Shishir Chainpuriya

Ph.: 0761-2371251

Blood Bank District Hospital Satna

Incharge: Dr. C.M. Tiwari

Ph. : 07672-223226

  Blood Bank

BMHRC, Karond bypass road Bhopal.

Incharge: Dr. Seema Khan

Ph.: 0755-2742212

Blood Bank

Shyam Shah Medical College Rewa

Incharge Dr. S K Mishra

Ph.: 0766-2257441

  Blood Bank

Rani Durgawati Hospital, Jabalpur

Incharge: Dr Sanjay Mishra

Ph.: 0761-2625822

Blood Bank

Indira Gandhi Gas Rahat Hospital , Bhopal

Incharge : Dr Anita Gupta

Ph.: 0755-2441026

  Blood Bank

Indian Redcross Society , Bhopal

Incharge : Dr O.P Shrivastava

Ph.: 0755-2550441

Blood Bank AIIMS Bhopal

Incharge : Dr. Babita Raghuwanshi

Ph.: 0755-2832363

  Blood Bank District Hospital Sagar

Incharge : Dr Bindua

Ph.: 07582 – 236548

Blood Bank District Hospital Ujjain

Incharge : Dr S N Bhilwar

Ph.: 0734-2551077

  Blood Bank District Hospital Chhindwara

Incharge : Dr (Smt) R. Tandekar

Ph.: 07162- 243442

Blood Bank District Hospital Shahdol

Incharge : Dr. Sudha Namdev

Ph.: 07652-245256